Breaking News

छत्तीसगढ़ राज्य की सबसे बड़ी खबर यूनिवर्सिटी का हाल, डिग्री के लिए चक्कर लगा छात्र बेहाल, हटाए गए रजिस्ट्रार

रायपुर. छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के पंडित रविशंकर शुक्ल यूनिवर्सिटी के कर्मचारी इस वक्त अनिश्चितकालिन हड़ताल पर हैं. लेकिन कर्मचारियों की हड़ताल ने छात्रों की परेशानी बढ़ा दी है. पिछले छह दिनों से कर्मचारियों की हड़ताल चल रही है और इस वजह से यूनिवर्सिटी के सारे कामकाज ठप्प हैं. पंडित रविशंकर शुक्ल यूनिवर्सिटी में पढ़ने वाले छात्र परीक्षा फार्म, डिग्री, माइग्रेशन के लिए यूनिवर्सिटी के चक्कर लगा रहे हैं, लेकिन उन्हे निराश लौटना पड़ रहा है.

बता दें कि यूनिवर्सिटी के अंतर्गत आने वाले कॉलेजों में इस वक्त परीक्षाएं चल रही हैं. वहीं सेमेस्टर की परीक्षाएं भी अगले महीने से शुरू हो जाएंगी. लेकिन अभी सारे कामकाज प्रभावित हैं. यूनिवर्सिटी में मेंटेनेंस के काम के लिए तैनात कर्मचारियों के हड़ताल में रहने की वजह से रूटीन मेंटेनेंस का काम भी नहीं हो पा रहा है. जिससे छात्र परेशान हैं. छात्र-कर्मचारी संघ के प्रदीप मिश्रा ने बताया कि 10 सूत्रीय मांगों को लेकर उनका प्रदर्शन जारी है.

इन मांगों को लेकर हड़ताल

प्रदीप ने बताया कि कर्मचारियों को सातवें वेतनमान का एरियर्स, पदोन्नि, वेतनमान में वृद्धि, कोरोना से मृत कर्मचारियों के परिजनों को अनुकंपा नियुक्ति और वाहन भत्ते की राशि वापसी समेत कई मांगों हैं. जबकि यूनिवर्सिटी प्रशासन द्वारा अब तक कर्मचारियों को ठोस आश्वासन नहीं दिया गया है और ना ही कोई लिखित पत्र कर्मचारियों तक पहुंचा है. ऐसी स्थिति में कर्मचारियों ने अपनी हड़ताल आगे भी जारी रखने का फैसला लिया है. कर्मचारियों का कहना है कि जब तक उनकी मांगे पूरी नहीं होती तब तक हड़ताल जारी रहेगी.

हटाए गए रजिस्ट्रार

रविवि कर्मचारी संघहड़ताल कब खत्म होगी इस पर अभी कुछ भी नहीं कहा जा सकता और ठीक परीक्षा के समय हड़ताल से छात्रों की मुश्किलें आने वाले दिनों में और बढ़ सकती हैं. इन सबके बीच बीते मंगलवार की शाम को यूनिवर्सिटी के रजिस्ट्रार को हटा दिया गया है. रजिस्ट्रार गिरीश कांत पांडेय को मूल पदस्थापना साइंस कॉलेज भेजा दिया गया है.



 

About newscg9

newscg9

Check Also

कलेक्टर ने विशेष पिछड़ी जनजाति बैगा छात्रावास के बच्चों से चर्चा कर पढ़ाई और भोजन व्यवस्था की ली जानकारी एवं स्वामी आत्मानंद स्कूल का किया निरीक्षण

कलेक्टर जनमेजय महोबे ने लैब, ऑडिटोरियम, आईटी रूम, लाइब्रेरी, क्लासरूम, खेल मैदान, शौचालय की गुणवत्ता …

Leave a Reply

Your email address will not be published.