Breaking News

कबीरधाम जिले में सड़क दुर्घटना को रोकने तीन ब्लैक और छ ग्रे स्पॉट्स चिन्हांकित

सांसद पाडेय ने कहा-चिन्हांकित क्षेत्रों में सांकेतिक बोर्ड, रेडियम लगाए और ब्रेकर बनाए

कवर्धा । 01 मार्च 2021 राजनांदगांव सांसद संतोष पांडेय की अध्यक्षता में आज सोमवार को यहां जिला कार्यालय के सभा कक्ष में संसद सदस्य सड़क सुरक्षा समिति की बैठक आयोजित की गई। बैठक में नगर पालिका अध्यक्ष ऋषि कुमार शर्मा, केबिनेट मंत्री मोहम्मद अकबर के निज सहायक किर्तन शुक्ला, कलेक्टर रमेश कुमार शर्मा, पुलिस अधीक्षक शलभ कुमार सिन्हा, जिला पंचायत सीईओ विजय दयाराम के., एसडीएम विनय सोनी, संयुक्त कलेक्टर अनिल सिदार, डिप्टीकलेक्टर संदीप ठाकुर, डीएसपी बी.आर. मंडावी, जिला परिवहन अधिकारी सीएल देवांगन, जिला शिक्षा अधिकारी महिलांगे, सिविल सर्जन एसके तिवारी, लोक निर्माण विभाग के जिला कार्यपालन अभियंता,एसडीओ राष्ट्रीय राजमार्ग एसके सुर्यवंशी सहित संबंधित विभाग के अधिकारीगण उपस्थित थे।

बैठक में कबीरधाम जिले से होकर गुजरने वाली राष्ट्रीय सड़क मार्ग और राज्यकीय सड़क मार्ग के साथ-साथ ग्रामीण तथा वनांचल सड़कों में होने वाली सड़क दुर्घटनाओं को रोकने के लिए गहन विचार-विमर्श किया गया। पिछले वर्ष हुए सड़क दुर्घटनों के सतत निगरानी, मॉनिटिंरग के रिपोर्ट के आधार पर जिले में सड़क दुर्घटनाओं को रोकने के लिए वर्ष 2021 के लिए तीन ब्लैक स्पॉट्स और छः ग्रे-स्पॉट्स का चिन्हांकन किया गया। चिन्हांकित ब्लेक स्पॉट्स में दुल्लापुर से रानी सागर तक, पुलिस चौकी के सामने दशरंपुर से पंचायत भवन तक और पाण्डातराई के समीप गंडई चौक से फोंक नदी पुल के आगे तक शामिल है। इसी प्रकार छः ग्रे-स्पॉट्स के लिए कवर्धा नगर पालिका के भीतर मिनी माता चौक से भोरमदेव मार्ग, साई मंदिर के सामने से राजनांदगांव तिराहा तक, रामकृष्ण पब्लिक स्कूल से सिंघनपुरी पेट्रोल पंप तक पिपरिया के बालाजी पेट्रोल पंप से बस स्टेण्ड इंदौरी तक, पंडरिया के एसडीओपी कार्यालय के सामने से अभिजित पेट्रोल पंप तक और लोहारा के बिडोरा चौक को चिन्हांकित कर संयुक्त विभागीय समन्व से इन क्षेत्रों में सडक दुर्घटना में कमी लाने के लिए कार्ययाजना बनाए जाएंगे। चिन्हांकि इस क्षेत्रों में दुर्घटना जन्य क्षेत्र और दुर्घटनाओं को रोकने के लिए संबंधित विभागों के समन्वय से सुधार कार्य और सांकेतिक बोर्ड लगाने के निर्णय लिया गया है। बैठक में इसके अलावा कवर्धा नगर पालिका क्षेत्र के भीतर होने वाले सड़क दुर्घटनाओं पर रोकने के लिए मिनीमाता चौक,रानी दुर्गावती चौक को और अधिक सुगम और बेहतर बनाने के लिए चौक की चौड़ाई कम करते हुए घेरा छोटा करने का निर्णय लिया गया। बैठक में जिले के प्रमुख मार्गों में लगे सांंकेतिक बोर्ड सही करने और सड़क किनारे उगे छोटे पौधों की साफ-सफाई करने पर चर्चा की गई।

सांसद पांडेय ने नगर पलिका अध्यक्ष शर्मा के प्रस्ताव पर सहमति देते हुए मुख्यमार्ग, मुख्य बाजारों में दुकानों के सामान सड़को पर सजाने वाले प्रतिष्ठानों पर कार्यवाही करने कहा। साथ ही शहर के अंदर व्यापारिक प्रतिष्ठानों, शॉपिंग मॉल अथवा अन्य मॉल जहां पार्किग की व्यवस्था की गई है, लेकिन वहां वर्तमान में उनका उपयोग नहीं किया जा रहा है, ऐसे मालिकों को समझईश देते हुए पार्किग की उपयोगिता सुनिश्चित करने के लिए कहा है। सांसद पांडेय ने कहा कि शहर के भीतर लगातार मुख्यमार्गों पर अवैध रूप से ठेला, गुमठियां और दुकानें लगाई जा रही है, जिससे सड़क दुर्घटना होने की आंशका बनी रहती है। उन्होने इसके लिए पुलिस,राजस्व, और पालिका की संयुक्त टीम बनाकर कार्यवाही करने के कहा है। केबिनेट मंत्री मोहम्मद अकबर के निज सहायक किर्तन शुक्ला सहसपुर लोहारा के ग्राम सिल्हाटी के बस स्टेण्ड के मोड को दुर्घटना जन्य क्षेत्र के रूप में चिन्हांकित करते हुए घटनाओं को कम करने प्रभावी कार्य योजना बनाने का सुझाव दिया।

सांसद पांडेय ने कहा कि जिले के दुर्घटना जन्य क्षेत्रों में जहां समिति द्वारा ब्लेक स्पॉट्स और ग्रे-स्पॉटस का चिन्हांकन किया गया है, उन क्षेत्रों में सड़क दुर्घटनाओं को रोकने लिए विभागीय समन्वय से सामुहिक प्रयास करने होंगे। उन्होने सड़क दुर्घटना रोकने के लिए स्कूल,कालेजों में अध्यानरत विद्यार्थियों में यातायात के प्रति जागरूकता लाने के लिए निबंध प्रतियोगिता, वाद-विवाद प्रतियोगिता सहित अन्य गतिविधयां एक अभियान के रूप में चलाने के लिए कहा है, ताकि युवाओं को यातायात के प्रति सजग किया जा सके।

विभागीय समन्वय से सड़क दुर्घटना में आई कमी

संसद सदस्य सड़क सुरक्षा समिति की समीक्षा बैठक में जिले के पुलिस अधीक्षक शलभ कुमार सिन्हा ने बताया कि वर्ष 2018 और 2019 की तुलना में वर्ष 2020 में सड़क दुर्घटना में कमी आई है। हालांकि इस कमी का कारण कोविड 19 कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने लिए लगाई गई लॉकडाउन भी एक प्रमुख कारण है, जिसकी वजह से लोगों को सड़कों पर निकलना कम हो गया था। उन्होने बताया कि वर्ष 2018 में सड़क दुर्घटना के 343 प्रकरण दर्ज किए गए थे, जिसमें से 134 लोगों की मृत्यु हुई है और घायलों की संख्या 466 है। इसी प्रकार वर्ष 2019 में 314 प्रकरण दर्ज किए गए, जिसमें मृतकों की संख्या 119 और घायलों की संख्या 367 है। जबकि वर्ष 2020 में सड़क दुर्घटना कमी आई है, जिसमें 285 प्रकरण दर्ज किए है, जिसमें 36 लोगों की मृत्यु और 309 लोग घायल हुए। उन्होने बताया कि जिले में पिछले वर्ष हुए सड़क दुर्घटनों के सतत निगरानी, मॉनिटिंरग के रिपोर्ट के आधार पर जिले में सड़क दुर्घटनाओं को रोकने के लिए वर्ष 2021 के लिए तीन ब्लैक स्पॉट्स और छः ग्रे-स्पॉट्स का चिन्हांकन किया गया। इससे पहले जिले में सात ब्लेक स्पॉट्स थे, चिन्हांकित ब्लॅक स्पॉट्स स्थल को संबंधित विभागों के समन्व से सुधार किया गया है, जिसके परिणाम मूलक सड़क दुर्घटनाओं में कमी है है। जिले में इस वर्ष तीन ब्लेक स्पॉट्स चिन्हांकि किए गए है। उन्होने बताया कि हाईवे मार्ग पर हाईवे पेट्रोलिंग भी बढ़ाया जाएगा।



About newscg9

newscg9

Check Also

कलेक्टर ने विशेष पिछड़ी जनजाति बैगा छात्रावास के बच्चों से चर्चा कर पढ़ाई और भोजन व्यवस्था की ली जानकारी एवं स्वामी आत्मानंद स्कूल का किया निरीक्षण

कलेक्टर जनमेजय महोबे ने लैब, ऑडिटोरियम, आईटी रूम, लाइब्रेरी, क्लासरूम, खेल मैदान, शौचालय की गुणवत्ता …