Breaking News

53 गांवों के लगभग 9400 उपभोक्ताओं को मिलेगी उच्च गुणवत्ता की विद्युत आपूर्ति

बेमेतरा l 16 सितंबर 2020 – छत्तीसगढ़ स्टेट पाॅवर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी लिमिटेड प्रदेश में गुणवत्तापूर्ण बिजली आपूर्ति के लिए विभिन्न योजनाओं पर तेजी से कार्य कर रही है। इसी तारतम्य में 53 लाख 43 हजार रुपए की लागत से दुर्ग क्षेत्र के संचारण-संधारण संभाग बेमेतरा के अंतर्गत 33/11 के.व्ही. सबस्टेशन खंडसरा में 10 लाख 98 हजार रुपए की लागत से 1089 के.व्ही.ए.आर., दाढ़ी में 14 लाख 15 हजार रुपए, बालसमुंद में 14 लाख 15 हजार रुपए तथा बाबा मोहतरा में 14 लाख 15 हजार रुपए की लागत से 1815 के.व्ही.ए.आर. का कैपेसिटर बैंक टेस्ट चार्ज किया गया। उपकेंद्रों में कैपेसिटर बैंक चार्ज होने से बेमेतरा के 53 गांवों के लगभग 9400 उपभोक्ता लाभान्वित होंगे। अधिकारियों ने बताया कि पंपों के इंडक्टिव (मोटर) लोड से प्रणाली पर अनावश्यक एम्पियर भार बढ़ता है और वोल्टेज कम(ड्राप) हो जाता है। कैपेसिटर बैंक के चालू होने से वोल्टेज एवं पाॅवर फैक्टर में सुधार होगा और इससे लाईन लाॅस में भी कमी आएगी।

छत्तीसगढ़ राज्य विद्युत वितरण कंपनी दुर्ग क्षेत्र के कार्यपालक निदेशक  संजय पटेल ने उक्त कार्य कोे सफलतापूर्वक संपादित करने पर अधीक्षण अभियंता व्ही.आर.मौर्या,  कार्यपालन अभियंता प्रोजेक्ट संभाग  हेमंत ठाकुर एवं उनकी पूरी टीम को बधाई पे्रषित की है। उन्होंने बताया कि सबस्टेशन खंडसरा के अंतर्गत ग्राम पथरिया, चमारी, झालम, केवाची, करचुआ, लावातरा, मरतरा, मोहतरा, रायचरा, सेमरिया, बंतापुर एवं घनाडीह तथा सबस्टेशन दाढ़ी के अंतर्गत ग्राम बटार, चिल्फी, कोदवा, गिधवा, सनकपाट, सुरंगबहेरा, मरजातपुर, बहरपोर, अगरी, देवगांव, मुरकी, कुरदा, हरबंधा एवं सबस्टेशन बालसमुंद के अंतर्गत ग्राम रौजपुर, खैरी, जोगीपुर, गुनरबोड़, मोहरेंगा, औसरी, धनेरी, बोरिया, बगौद, नयापारा, बाबाघटोली, आंदू, घटोली, पुरान, सोनपुरी, बिरमपुर, बिटकुल, झिरिया, तुमा, उसलापुर और सबस्टेशन बाबा मोहतरा के अंतर्गत ग्राम भोइनाभाठा, पीपरभट्ठा, तेंदुभाठा, ढारा, नवलपुर, पेंड्री, नवागांव एवं खुड़मुड़ी के लगभग 9400 उपभोक्ता लाभान्वित होंगे।



 

About newscg9

newscg9

Check Also

कलेक्टर ने विशेष पिछड़ी जनजाति बैगा छात्रावास के बच्चों से चर्चा कर पढ़ाई और भोजन व्यवस्था की ली जानकारी एवं स्वामी आत्मानंद स्कूल का किया निरीक्षण

कलेक्टर जनमेजय महोबे ने लैब, ऑडिटोरियम, आईटी रूम, लाइब्रेरी, क्लासरूम, खेल मैदान, शौचालय की गुणवत्ता …