Breaking News

कलेक्टर रमेश शर्मा ने खेतो में जाकर किया औचक निरिक्षण एवं गिरदावरी के काम को गंभीरता से करने के लिए पटवारी को दिया गया निर्देश

कलेक्टर ने विभिन्न धान खरीदी केन्द्रों को निरीक्षण कर आगामी धान खरीदी की तैयारियों के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश दिए

कवर्धा | 14 सितम्बर 2021। कलेक्टर रमेश कुमार शर्मा ने आज मंगलवार को कवर्धा विकासखण्ड के अंतर्गत ग्राम सोनपुरी, झिरौनी, बम्हनी, और मैनपुरी के खेतों में पहुंचकर राज्य शासन के निर्देश पर जारी गिरदावरी सर्वेक्षण कार्य का औचक निरीक्षण किया। कलेक्टर शर्मा ने राज्य शासन के निर्देश के अनुसार 30 सितम्बर तक हर हाल में गिरदावरी का काम पूर्ण करने को कहा है। कलेक्टर ने गिरदावरी के सत्यापन के साथ-साथ धान खरीदी केन्द्र सोनपुरी रानी, ग्राम जिंदा, झिरौनी, बम्हनी और मैनपुरी के धानी खरीदी केन्दों को निरीक्षण कर आमागी सीजन से शुरू होने वाले धान खरीदी के तैयारियों के संबंध में आवश्यश्क दिशा-निर्देश दिए। उन्होने कहा कि खरीफ विपणन वर्ष 2021-22 में किसानों से समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी की जाएगी। उन्होने धान की रखरखाव के लिए धान खरीदी केंद्रो को मरम्मत और अपूर्ण धान खरीदी केंद्रो के निर्माण कार्यो को पूरा करने के निर्देश दिए। निरीक्षण के दौरान कवर्धा अनुविभागीय अधिकारी विनय सोनी, जिला नोडल अधिकारी रवि प्रकाश मिश्रा, तहसीलदार मनीष वर्मा, बिरकोना जिला सहकारी बैंक के प्रबंधक विजय चन्द्रवंशी, राजस्व निरीक्षण एवं पटवारी अमले उपस्थित थे।

कलेक्टर शर्मा ने इस दौरान उन्होंने किसानों, ग्रामीणों और पटवारियों से मिलकर गिरदावरी कार्य और फसलों के बारे में विस्तृत जानकारी ली। कलेक्टर ने गिरदावरी के सर्वे का ऑकलन करने के लिए सोनपुरी के खसरा नम्बर 27/1 में के पास अचानक अपनी गाड़ी रोकरकर गिरदवानी कार्य का सत्यापन किया। वहां मौके पर अरहर का फसल मिला। उन्होने गिरदावरी रिकार्ड से मिलान किया। रिकार्ड में अरहर की खेती ही पाई गई। खसरा नम्बर 25 पड़त भूमि थी। वह भी सही पाई गई। उन्होंने ग्राम झिरौनी के खसरा नम्बर 1/5, खसरा नम्बर 11, का सत्यापन किया। खसरा नम्बर 45 का भी मौके पर औचक सत्यापन किया। रिकार्ड में शासकीय भूमि मिला। मौके पर पड़त भूमि था। इसी तरह तरह कलेक्टर ने ग्राम बम्हनी के खसरा नम्बर 109 का मौके पर जांच की। भौतिक रूप से मौके पर सोयाबीन की फसल मिली। गिरदावरी सर्वे रिकार्ड से मिलान किया तों सही पाई गई। इसी तरह खसरा नम्बर 1127 एवं 28 का भी जांच किया गया। रिकार्ड एवं मौके पर पड़त भूमि मिला। ग्राम मैनपुरी के खसरा नम्बर 125 का मिलान किया गया। वहां पर पटवारी शिवदयाल कौशिक ने बताया कि मैनपुरी के गिरदावरी के कार्य लगभग पूरी हो गई हैं, शेष दो ग्रामों को सर्वें का काम चल रहा है। निर्धारित समय सीमा पर पूरी हो जाएगी। कवर्धा तहसीलदार श्री मनीष वर्मा ने बताया कि कवर्धा तहसील के गिरदावरी का कार्य 99 प्रतिशत हो गया।

कबीरधाम जिलें में 81 प्रतिशत गिरदावरी का कार्य पूरा

राज्य शासन के निर्देश के अनुसार 30 सितम्बर तक गिरदावरी का कार्य पूरा करना है। जिले में गिरदावरी का कार्य 81.26 प्रतिशत हो गया है। जिला कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले में 78158 कुल खसरे है। जिसमें वर्तमान में 634792 खसरों का गिरदावरी कर लिया गया है। उल्लेखनीय है कि गिरदावरी से ही पता चलता कि वास्तव में कितने रकबे में किसानों धान की फसल लगाई है। इसी के अनुरूप धान खरीदी के लिए किसानों का पंजीयन होता है। गिरदावरी के अंतर्गत ग्रामीण स्तर पर पटवारी, ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी हर खसरा नम्बर के रकबे पर पहुंचकर फसल का मुआयना करते हैं और पंजी में रकबे का रिकार्ड रखते हैं। उन्होंने राजस्व अधिकारियों से कहा कि इस वर्ष धान की खरीदी का कार्य भुईंया साफ्टवेयर से मिलान करके किया जायेगा। इसलिए इस साफ्टवेयर का आज की तारीख में अपडेट कर दिया जाता है।



About newscg9

newscg9

Check Also

लौह पुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल सहकारी शक्कर कारखाना पंडरिया में गन्ना उत्पादक किसानों को बड़ी राहत,10.43 करोड़ किसानों को गन्ना भुगतान ज़ारी किया गया

कवर्धा, 28 अगस्त 2022। गन्ने की रिकवरी दर में राष्ट्रीय स्तर पर कीर्तिमान बनाने वाली …