Breaking News

कलेक्टर रमेश कुमार शर्मा के द्वारा आयुष्मान कार्ड बनाने के लिए 15 से 30 सितम्बर तक विशेष पखवाड़ा अभियान चलाया जा रहा है

जिला कलेक्टर रमेश कुमार शर्मा ने दिया पखवाड़ा में अधिक से अधिक लाभार्थियों को जोड़ने का निर्देश।

कवर्धा। प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (आयुष्मान भारत) व मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना के छूटे हुए लाभार्थियों को आयुष्मान कार्ड उपलब्ध कराने के लिए विशेष अभियान चलाया जाएगा। यह अभियान 15 सितम्बर से 30 सितम्बर तक आयुष्मान पखवाड़ा के रूप में चलेगा। जिला कलेक्टर रमेश कुमार शर्मा ने इस विषय पर स्वास्थ्य विभाग समेत अन्य विभागों को भी इस कार्य की सफलता के लिए दिशा-निर्देश दिया है। उन्होंने कहा कि शासन के निर्देश पर आयुष्मान कार्ड विहीन परिवारों को कार्ड उपलब्ध कराने के लिए पखवाड़े का आयोजन किया जा रहा है। इस अभियान में ऐसे परिवारों को लक्षित किया जाएगा, जिनमें एक भी आयुष्मान कार्ड उपलब्ध नहीं है। आयुष्मान कार्ड बनाने के लिए कोई भी शुल्क नहीं देना होगा। इसके लिए जन सेवा केंद्र चॉइस सेंटर्स या नजदीक स्वास्थ्य केंद्र पर नि:शुल्क कार्ड बनवा सकते हैं। अभियान में पंचायती राज, ग्राम्य विकास विभाग और आईसीडीएस विभाग आदि का सहयोग भी लिया जाएगा। जहां लोग आसानी से पहुंच सकें ऐसे सार्वजनिक स्थानों पर कोविड गाइड लाइन का पालन करते हुए कैम्प लगाकर कार्ड बनाने का निर्देश भी उन्होंने स्वास्थ्य विभाग को दिया है।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ शैलेन्द्र कुमार मंडल ने इस विषय पर जानकारी दी कि राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण, नई दिल्ली के निर्देश पर आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना एवं डॉ. खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजनांतर्गत 15 से 30 सितंबर तक राज्य में आयुष्मान भारत पखवाड़ा का आयोजन रखा गया है। इसी प्रकार 23 सितंबर को आयुष्मान भारत दिवस के रुप में मनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि जिला कलेक्टर महोदय के निर्देशानुसार 14 सितंबर को गुगल मीट के माध्यम से कवर्धा जिले के आयुष्मान कर्मचारियों की आवश्यक बैठक ली गई। बैठक में आयुष्मान भारत पखवाडा एवं आयुष्मान भारत दिवस की तैयारियों को लेकर जिले के समस्त पंजीकृत शासकीय एवं निजी चिकित्सालयों में बैनर , पोस्टर एवं स्लोगन के माध्यम से प्रचार- प्रसार के निर्देश दिए गए। डॉ मंडल ने बैठक में आयुष्मान कार्ड बनाने के लिए चयनित स्थान पर बैनर लगाकर प्रत्येक हितग्राहियों का आयुष्मान कार्ड बनाने के लिए कहा।

इसके लिए गांव – गांव में प्रचार-प्रसार आडियों रिकार्डिंग के माध्यम से किया जा रहा है। उन्होंने आयुष्मान कर्मचारियों को बताया कि अगर किसी का अभी तक आयुष्मान कार्ड नहीं बना है तो गांव में सरपंच और सचिव एवं मितानिनों से संपर्क कर गांव – गांव में मुनादी सुनिश्चित कराएं। इसके लिए सम्बन्धितों को जिला प्रशासन की ओर से निर्देश जारी किया जा चुका है।

इन बीमारियों के उपचार में शासन द्वारा 20 लाख तक की सहायता

मुख्यमंत्री विशेष स्वास्थ्य सहायता योजनांतर्गत् राज्य अथवा राज्य के बाहर के पंजीकृत चिकित्सालयों में उपचार कराने पर शासन द्वारा 20 लाख तक की सहायता प्रदान की जाती है। निम्नलिखित बीमारियों को योजनांतर्गत उपचार किया जावेगाः-
1. लिवर प्रत्यारोपण
2. किडनी प्रत्यारोपण
3. फेफडों का प्रत्यारोपण
4. हृदय व फेफडों प्रत्यारोपण
5. हृदय रोग
6. हीमोफीलिया की विशेष परिस्थितियों
7. कैंसर (जिनका इलाज राज्य की अन्य योजनाओ मे उपलब्ध ना हो या राशि समाप्त हो चुकी हो )
8. एप्लास्टिक अनीमिया (जिनका इलाज राज्य की अन्य योजनाओ मे उपलब्ध ना हो या राशि समाप्त हो चुकी हो )
9. काॅक्लीयर इम्प्लांट (7 साल तक के बच्चो के लिए, मात्र शासकीय चिकित्सालय में उपचार हेतु)
10. एसिड अटैक विक्टिम्स (मात्र शासकीय चिकित्सालय में उपचार हेतु)
11. विभिन्न प्रकार के रेयर डिसीज (जिनका इलाज राज्य की अन्य योजनाओं में उपलब्ध ना हो)



About newscg9

newscg9

Check Also

लौह पुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल सहकारी शक्कर कारखाना पंडरिया में गन्ना उत्पादक किसानों को बड़ी राहत,10.43 करोड़ किसानों को गन्ना भुगतान ज़ारी किया गया

कवर्धा, 28 अगस्त 2022। गन्ने की रिकवरी दर में राष्ट्रीय स्तर पर कीर्तिमान बनाने वाली …