Breaking News

डॉक्टर्स डे विशेष – कोविड ने बताया डॉक्टर्स सच में भगवान से कम नही

 जिले में कोविड काल में सक्रियता से मोर्चा सम्हालने वाले चिकित्सकों ने साझा किया अनुभव।

आरएनए के पद पर शिवगोपाल परिहार जिले के अति लोकप्रिय व जुझारू चिकित्सक के रूप में जाने जाते है लोगों के द्वारा इनके कार्यों की सराहना करते हैं। कोविड काल मे इनके द्वारा शहर के एक – एक वार्ड एक – एक घर मे जाकर अपनी सेवाये जी – जान से दी है |

कवर्धा। कोविड काल में वैसे तो सम्पूर्ण शासन – जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी-कर्मचारियों ने जी जान से जिम्मेदारियों का निर्वहन किया। लेकिन डॉक्टर्स ने जो भूमिका निभाई है वह मरीजों के जीवन रक्षा में सबसे अहम माना जा रहा है। ऐसे ही बहुत से चिकित्सक हैं जिन्होंने अपना जी-जान लगाकर जिले में कोविड नियंत्रण के वक्त मरीजों की सेवाएं की।

सीएमएचओ डॉ शैलेन्द्र मंडल

जिले में स्वास्थ्य विभाग के कार्यों की पूरी कमान सीएमएचओ डॉ शैलेन्द्र कुमार मंडल ने सम्हाला। किसकी कहाँ ड्यूटी लगानी है, चिकित्सालयों में सामग्रियों की उपलब्धता, ऑक्सीजन और रमेडीसीवीर की व्यवस्था से लेकर मरीजों के लिए अन्य आवश्यक दवाओं की व्यवस्थाओं की जिम्मेदारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी होने के नाते इन्हें ही देखनी पड़ी। इस दौरान वे स्वयं कोविड लक्षणों की चपेट में भी आये लेकिन उन्होंने उपचार लेकर पुनः कमान सम्हाला।

जिला सर्विलेंस अधिकारी डॉ केशव ध्रुव

कोविड काल में जिला सर्विलेंस अधिकारियों की जिम्मेदारी भी काफी बड़ी रही। इस नाते डॉ केशव ध्रुव ने जो भूमिका निभाई वह भी काबिले तारीफ है। समय पर जांच, रिपोर्ट लोगों को कोविड केयर सेंटर, कोविड हॉस्पिटल अथवा होम आइसोलेशन में रखकर टीम के माध्यम से सतत निगरानी करना। आपातकाल में मरीजों व परिजनों की हर सम्भव मदद करना इनके कार्यों में शामिल रहा।

कोविड हॉस्पिटल नोडल डॉ विवेक चन्द्रवंशी

जिले के एकमात्र 100 बिस्तर कोविड हॉस्पिटल की व्यवस्थाओं की जिम्मेदारी निभाने के लिए रातों की नींद छोड़कर डटे रहे यहां के नोडल डॉ विवेक चन्द्रवंशी। इन्होंने मरीजों व उनके परिजनों के कॉल को हर समय रिस्पॉन्स किया और हर सम्भव मदद की। इनके ही प्रयासों से डीसीएच में मरीजों के परिजनों तक मरीजों की डेली अपडेट देने के लिए अलग से टेली कन्सलटेंसी टीम गठित की गई। इस व्हाट्सप्प ग्रुप के माध्यम से मरीजों की नामजद जानकारी दी जाती थी, जिसे ड्यूटी शिक्षकों द्वारा उनके परिजनों को बताया जाता था। डॉ चन्द्रवंशी द्वारा मरीजों की मनोदशा के अनुरूप काउंसलिंग करके उन्हें मानसिक सम्बल देने का भी भरपूर प्रयास किया गया।

निश्चेतना विशेषज्ञ डॉ मनीष नाग

डॉ नाग जिला कोविड अस्पताल में एक अति महत्वपूर्ण कार्य सम्हाल रहे थे। गम्भीर व अति गम्भीर मरीजों को जीवन दायनी दवाओं के साथ वेंटिलेटर, ऑक्सीजन व इंजेक्शन के दोजेज का निर्धारण व अन्य आवश्यक उपचार इनके माध्यम से किया गया।

शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र प्रभारी शिवगोपाल परिहार

कवर्धा शहरी क्षेत्र में कोविड जांच, कोविड टीकाकरण व जनजागरूकता के साथ-साथ जनसहयोग के लिए आरएनए के पद पर सेवारत शिवगोपाल परिहार को लोग अवश्य याद रखेंगे। जिले के अति लोकप्रिय व जुझारू चिकित्सक के रूप में लोग इनके कार्यों की सराहना करते हैं।

डॉ अरुण चौरसिया

जिले में होम आइसोलेट मरीजों तक दवा पहुँचवाने व लगातार फॉलो अप लेने का कार्य डॉ अरुण व टीम ने की। इस कार्य में डॉ अरुण की मुस्तैदी के कारण दवा वितरण आसानी से किया जा सका।



 

About newscg9

newscg9

Check Also

कलेक्टर ने विशेष पिछड़ी जनजाति बैगा छात्रावास के बच्चों से चर्चा कर पढ़ाई और भोजन व्यवस्था की ली जानकारी एवं स्वामी आत्मानंद स्कूल का किया निरीक्षण

कलेक्टर जनमेजय महोबे ने लैब, ऑडिटोरियम, आईटी रूम, लाइब्रेरी, क्लासरूम, खेल मैदान, शौचालय की गुणवत्ता …