Breaking News

बिहार अब पूरा बंद:15 मई तक रहेगा लॉकडाउन, CM ने सोशल मीडिया पर दी जानकारी; एक दिन पहले कोरोना के हालात का जायजा लेने उतरे थे सड़क पर

बिहार में बेकाबू होते कोरोना के संक्रमण को देखते हुए नीतीश सरकार ने आखिर पूर्ण लॉकडाउन का फैसला ले लिया है। CM नीतीश कुमार ने सोमवार दूसरी बार पटना की सड़कों पर उतारकर स्थिति का जायजा लिया था। इसके बाद उन्होंने दोनों डिप्टी सीएम और अन्य अधिकारियों के साथ हाईलेवल मीटिंग बुला ली थी। इसी मीटिंग में निर्णय लिया गया कि बिहार में संक्रमण फैलने से रोकने का तरीका अब यही है। 15 मई तक ये लॉकडाउन किया गया है। CM नीतीश कुमार ने सोशल मीडिया से इसकी जानकारी दी।

सोमवार को ही पटना हाईकोर्ट ने लॉकडाउन पर किया था सवाल

पटना हाई कोर्ट ने भी सोमवार को ही बिहार सरकार से पूछा था कि वह सूबे में पूर्ण लॉकडाउन पर क्या निर्णय ले रही है। इस मामले में उचित विचार कर मंगलवार 4 मई तक जवाब देने का निर्देश कोर्ट ने दिया था। कोर्ट ने बिहार में कोरोना नियंत्रण के लिए किए जा रहे सरकारी प्रयासों को एक बार फिर नाकाफी माना है। इससे पहले IMA ने भी बिहार के हालात को देखते हुए 15 दिन के लिए लॉकडाउन की मांग की थी। राजनीतिक पार्टियों की तरफ से भी लॉकडाउन करने की मांग चल रही थी।

CM ने सोशलमीडिया पर दी जानकारी।
CM ने सोशलमीडिया पर दी जानकारी।

संक्रमण बढ़ता देख शाम 6 से किया गया था नाइट कर्फ्यू

बिहार में फिलहाल शाम 6 बजे से सुबह 6 बजे तक नाइट कर्फ्यू लगा है। सभी दुकानें शाम 4 बजे बंद हो जा रही हैं। सभी सरकारी-निजी ऑफिस (आवश्यक सेवाओं में आने वाले को छोड़कर) भी अभी 25% कर्मियों के साथ शाम 4 बजे तक ही खुल रहे हैं। हालांकि नाइट कर्फ्यू का यह नियम पब्लिक ट्रांसपोर्ट, कृषि कार्य, औद्योगिक इकाइयों, निर्माण कार्य, स्वास्थ्य प्रतिष्ठानों और इससे संबंधित कार्यों, ठेले पर फल-सब्जी की बिक्री करने वालों, रेस्टोरेंट्स इत्यादि पर लागू नहीं है। रेस्टोरेंट में रात 9 बजे तक खाना पैक करवाकर ले जाने की सुविधा जारी है।

बिहार में कब-कब लगा पूर्ण लॉकडाउन

प्रथम चरण

  • 25 मार्च 2020 – 14 अप्रैल 2020 (21 दिन)
  • द्वितीय चरण : 15 अप्रैल 2020 – 3 मई 2020 (19 दिन)
  • तृतीय चरण : 4 मई 2020 – 17 मई 2020 (14 दिन)
  • चतुर्थ चरण : 18 मई 2020 – 31 मई 2020 (14 दिन)


About newscg9

newscg9

Check Also

कलेक्टर ने विशेष पिछड़ी जनजाति बैगा छात्रावास के बच्चों से चर्चा कर पढ़ाई और भोजन व्यवस्था की ली जानकारी एवं स्वामी आत्मानंद स्कूल का किया निरीक्षण

कलेक्टर जनमेजय महोबे ने लैब, ऑडिटोरियम, आईटी रूम, लाइब्रेरी, क्लासरूम, खेल मैदान, शौचालय की गुणवत्ता …