Breaking News

किसानों की सुविधा के लिए जिले में 60 से बढ़ाकर 90 प्राथमिक कृषि शाख सहकारी समिति और धान उर्पाजन केन्द्र 86 से बढ़ाकर 94 किया गया चन्द्रंवशी

कवर्धा l  01 दिसंबर 2020। कबीरधाम जिले में राज्य शासन के निर्देश पर 94 धान उपार्जन केन्द्रों में एक साथ धान खरीदी का विधिवत शुभारंभ किया गया। राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग के सदस्य श्री महेश चन्द्रवंशी ने रामपुर धान उपार्जन केन्द्र,  नीलकंठ चन्द्रवंशी ने कवर्धा विकासखण्ड के ग्राम कोको के संचालित धान खरीदी केन्द्र में पूजा-अर्चना कर समर्थन मूल्य पर धान खरीदी का विविधत शुभारंभ किया। कवर्धा नगर पालिक अध्यक्ष ऋषि शर्मा ने कवर्धा के नवीन कृषि उपज मंडी में धान खरीदी का शुभांरभ किया। 

नीलकंठ चन्द्रंवशी ने ग्राम कोको में धान खरीदी का शुभारंभ करते हुए कहा कि प्रदेश में नई सरकार बनने के बाद धान का समर्थन मूल्य की वृद्धि करने, राजीव गांधी न्याय योजना तथा ऋण माफी योजना के बाद किसानों का प्रदेश में मान-सम्मान के साथ-साथ आत्मविश्वास बढ़ा है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के प्रदेश में खेती-किसानी को बढ़ावा देने वाली नीतियों जैसे कृषि ऋण माफी योजना, राजीव गांधी न्याय योजना के कारण बरसों से वंचित किसानों में खेती-किसानी के प्रति रूचि ले रहे है। राज्य शासन द्वारा संचालित इन योजनाओं के परिणाम मूलक कबीरधाम जिले में पिछले वर्षों की तुलना में धान का रकबा में 8 हजार 349 हैक्टेयर और 16 हजार 761 किसानों की बढोतरी हुई है। जिले में 72 हजार 414 किसानों को सुगमता से खेती-किसानी करने के लिए राज्य शासन की कृषि-धान बीच ऋण योजना के तहत 3 सौ 49 करोड़ रूपए आसानी से ऋण उपलब्ध कराया गया है। जिले में धान का रकबा और किसानों की संख्या की बढोतरी को ध्यान में रखते हुए मुख्यमंत्री बघेल के मंशानुरूप मंत्री मोहम्मद अकबर और पंडरिया विधायक ममता चन्द्राकर के पहल पर जिले में इस वर्ष 30 नए प्राथमिक कृषि शाख सहकारी समिति का गठन किया गया है। इसी प्रकार 8 नए धान उपार्जन केन्द्र बनाए गए है। जिले में अब 60 से बढ़कर 90 प्राथमिक कृषि शाख सहकारी समिति और धान उर्पाजन केन्द्र 86 से बढ़कर 94 हो गया है। जिले में नए प्राथमिक कृषि साख सहकारी और उपार्जन केन्द्र बढ़ने से किसानों को और अधिक सुविधाएं मिलेगी, धान बेचने के लिए दूरी तय नहीं करना पडे़गा, इससे किसानों के कृषि लागत भी कम होगी।



About newscg9

newscg9

Check Also

कलेक्टर ने विशेष पिछड़ी जनजाति बैगा छात्रावास के बच्चों से चर्चा कर पढ़ाई और भोजन व्यवस्था की ली जानकारी एवं स्वामी आत्मानंद स्कूल का किया निरीक्षण

कलेक्टर जनमेजय महोबे ने लैब, ऑडिटोरियम, आईटी रूम, लाइब्रेरी, क्लासरूम, खेल मैदान, शौचालय की गुणवत्ता …