Breaking News

दीपावली पर पटाखे से तीन दर्जन से ज्यादा लोग झुलसे, भर्ती की नहीं पड़ी जरूरत

हर साल की तरह भी इस बार भी शहरी क्षेत्र में लक्ष्मी पूजा और गोवर्धन पूजा के दिन जमकर आतिशबाजी की गई है। पटाखा जलाने के दौरान कुछ लापरवाही करने के मामले भी सामने आए। इसके चलते झुलसने पर तीन दर्जन से ज्यादा लोगों को अस्पताल ले जाना पड़ा। जानकारी के मुताबिक सिम्स में 25 व जिला अस्पताल में 12 से ज्यादा मामले आए।

वही दोनों अस्पताल में पटाखे से झुलसने वालों के लिए विशेष व्यवस्था रही। ऐसे में सभी को तत्काल उपचार की सुविधा मिली। पर्व के दौरान एक राहत की बात यह भी रही कि कोई भी गंभीर रूप से नहीं झुलसा था। सभी की हालत सामान्य रही। हाथों के झुलसने के साथ आंखों से आंसू निकलने की समस्या लेकर लोग अस्पताल पहुंचे। उनमें से किसी को भी भर्ती करने की आवश्यकता नहीं पड़ी।

 

सभी को उपचार के बाद घर भेजा गया। झुलसने के कम मामले आने से यह बात भी सामने आई है कि इस बार की दीपावली पर्व भी जिले में उत्साह व उमंग के साथ मना है। हालांकि सोमवार को भाई दूज पर पटाखे जलाने के दौरान झुलसने के कुछ और मामले सामने आए हैं, जिनका उपचार किया गया है।

ग्रामीण क्षेत्र में भी हुईं घटनाएं

ग्रामीण क्षेत्र में भी करीब दो दर्जन मामले अस्पताल पहुंचे हैं। जिले के सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में इसके लिए पहले से अलर्ट रहा। ऐसे में ग्रामीणों को भी उपचार की सुविधा मिली। रतनपुर में पांच, कोटा में तीन, बिल्हा में 10, मस्तूरी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में पटाखे से जलने वाले आठ मामलों में उपचार किया गया।



About newscg9

newscg9

Check Also

कलेक्टर ने विशेष पिछड़ी जनजाति बैगा छात्रावास के बच्चों से चर्चा कर पढ़ाई और भोजन व्यवस्था की ली जानकारी एवं स्वामी आत्मानंद स्कूल का किया निरीक्षण

कलेक्टर जनमेजय महोबे ने लैब, ऑडिटोरियम, आईटी रूम, लाइब्रेरी, क्लासरूम, खेल मैदान, शौचालय की गुणवत्ता …