Breaking News

कोरोना नियंत्रण हेतु जिला प्रशासन द्वारा की जा रही व्यवस्थाओं को समझें.कलेक्टर रमेश कुमार शर्मा की अपील

 जिले के सभी वर्गों के जागरूक जनों का बनाया गया व्हाट्सएप ग्रुप।

कवर्धा। जिला कलेक्टर रमेश कुमार शर्मा ने कोरोना की जंग जीतने के लिए सर्वप्रथम इस सम्बंध में सही और सटीक जानकारी रखने की अपील की है। उन्होंने कहा कि कोरोना से बचने के लिए केवल कोरोना पॉजिटिव चिन्हित व्यक्ति या उसके परिवार वालों से शारीरिक दूरी रखना व मास्क लगाना काफी नही है, बल्कि प्रत्येक व्यक्ति को एक – दूसरे से शारीरिक दूरी सुनिश्चित करना व मास्क लगाना जरूरी है।

किसी भी शारीरिक समस्या के उपचार के पहले कराएं कोरोना जांच

कलेक्टर शर्मा ने कहा कि बहुत से लोग जानबूझकर सही समय पर कोरोना टेस्ट नही करा रहे हैं जिसके कारण कोरोना संक्रमण फैलने का खतरा बढ़ रहा है। कोरोना संक्रमित व्यक्ति के सम्पर्क में आने के बाद एवं कोरोना सम्बन्धी लक्षण आने पर तत्काल कोरोना टेस्ट कराना है इसके अलावा किसी भी प्रकार का शारीरिक समस्या होने पर भी पहले कोरोना जांच अवश्य करा लेना चाहिए। इससे समय रहते कोरोना का पता चल जाता है और उपचार करके जल्द राहत पाया जा सकता है। एंटीबायोटिक और पैरासिटामोल खाकर सर्दी , बुखार को ठीक करने के चक्कर में कुछ लोग भीतर ही भीतर कोरोना को बढ़ाने के बाद जांच करा रहे हैं और घातक परिणाम सामने आ रहा है। उन्होंने कहा कि कोरोना जांच के बाद रिपोर्ट आने तक होम कोरेंटाइन में रहना चाहिए।

क्या करें रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर

जिला कलेक्टर रमेश कुमार शर्मा कहते हैं कि होम आइसोलेशन व कोविड केयर सेंटर में दी जा रही सेवाओं के बारे में सही जानकारी होना आवश्यक है। इससे कोरोना टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर चयन करने के लिए कठिनाइयों का सामना नही करना पड़ेगा। कोरोना संक्रमण के बाद आइसोलेशन (पृथकीकरण) अर्थात अन्य लोगों से खुद को अलग रखना ही पहला स्टेप है। यदि घर पर सुविधा है तो होम आइसोलेशन पर रह सकते हैं अथवा शासन-प्रशासन की ओर से कोविड केयर सेंटर की सुविधा दी गई है। कोरोना संक्रमित वे लोग जिनके घर पर अलग व्यवस्था नही है वे कोविड केयर सेंटर में आइसोलेट रह सकते हैं। इलाज, परामर्श और शेष सारी सेवाएं दोनों ही स्थिति में एक समान रहती हैं। उन्होंने कहा कि सोशल डिस्टेनसिंग, प्रॉपर मास्क लगाना और प्रॉपर हैंडवाश करना ही कोरोना से बचने का मार्ग है। यदि आपके घर पर गर्भवती महिला, छोटे बच्चे, बुजुर्ग, गम्भीर बीमारियों से ग्रसित व्यक्ति अथवा किसी प्रकार से ऑपरेशन कराए हुए व्यक्ति हैं तब आपको अधिक सावधानी बरतने की जरूरत है , क्योंकि इनको संक्रमण का खतरा अपेक्षाकृत अधिक रहता है।

कोरोना नियंत्रण में सहयोग करने वालों का बनाया गया ग्रुप

जिला कलेक्टर द्वारा कोरोना की जंग जीतने के लिए जिले में एक अभिनव पहल किया गया है। उन्होंने जिले के सभी वर्गों के ऐसे लोगों का व्हाट्सएप ग्रुप बनवाया है, जो कोरोना संकट काल में अपनी सेवाएं देने के लिए आगे आ रहे हैं। होम आइसोलेट कोरोना मरीजों को दवा वितरण से लेकर इस सम्बंध में नियमों का पालन कराने सम्बन्धी सहयोग ग्रुप के सदस्यों से लिया जा रहा है। ग्रुप के माध्यम से राज्य शासन द्वारा जारी कोरोना सम्बन्धी आवश्यक मार्गदर्शिकाओ से लोगों को अवगत कराया जा रहा है।



 

About newscg9

newscg9

Check Also

कलेक्टर ने विशेष पिछड़ी जनजाति बैगा छात्रावास के बच्चों से चर्चा कर पढ़ाई और भोजन व्यवस्था की ली जानकारी एवं स्वामी आत्मानंद स्कूल का किया निरीक्षण

कलेक्टर जनमेजय महोबे ने लैब, ऑडिटोरियम, आईटी रूम, लाइब्रेरी, क्लासरूम, खेल मैदान, शौचालय की गुणवत्ता …