Breaking News

कोरोना से दिवंगत पत्रकारों के परिवारों को आर्थिक मदद दिलाने प्रदेश सचिव राज्यपाल और मुख्यमंत्री को लिखा पत्र

 अखिल भारतीय पत्रकार सुरक्षा समिति के राजनांदगांव एवं रायगढ़ के जिला अध्यक्षों एवं कार्यकारिणी के सदस्यों ने दी श्रद्धांजलि

राजनांदगाँव । 1 सितम्बर 2020 कल पूरे छत्तीसगढ़ मे चौथे स्तंभ कहे जाने वाले पत्रकार जगत के लिए काला दिवस था ,हमारे बीच के दो निष्पक्ष खबरों को प्रवाहित करने वाले पत्रकार हमारे बीच नहीं रहे ,राजनांदगांव के वरिष्ठ पत्रकार साथी दिवंगत पूरन साहू एवं रायगढ़ के दिवंगत शशीकांत शर्मा यह दोनों पत्रकार साथी अपने जीवन के कार्यकाल में अलग-अलग अखबारों में कुशलता पूर्वक कार्य करते रहें और जहां पूरे विश्व मे 2020 कोविड-19 कोरोनावायरस महावारी एक भयावह रूप ले चुकी है,और लाखों की तादात में लोगो को अपने चपेट में ले चुकी है लेकिन इस कोरोनो काल मे जितना कर्तव्य शासन प्रशासन का है उतनी ही अहम भूमिका पत्रकारो की है, इसी भूमिका और अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन करते हुवे हमारे बीच के पत्रकार भाइयों ने इस पूर्णा कोरोना संक्रमण के लॉकडाउन के दरमियान चौथे स्तंभ को धरातल पर मजबूत रखा और सीना ताने खड़े रहे जिसमें इन्हें कोरोना संक्रमण का सामना करना पड़ा और यह इस बीमारी से लड़ते हुए वीरगति को प्राप्त हुए लेकिन अब इनके ऊपर आश्रित परिवार बहुत ही कुंठित और असहाय सा महसूस कर रहे है,अब इन परिवारों की आर्थिक स्थिति की समस्या महत्वपूर्ण है ,इस गंभीर समस्या की गंभीरता को समझते हुवे ,अखिल भारतीय पत्रकार सुरक्षा समिति के माध्यम से प्रदेश सचिव प्रशांत ईलमकार ने प्रदेश अध्यक्ष गोविंद शर्मा के मार्गदर्शन में समस्त प्रदेश स्तर के पदाधिकारी एवं जिला अध्यक्षों के समर्थन के बाद पीड़ित परिवारों को राज्य शासन की ओर से तत्काल आर्थिक मदद दिलवाने हेतु छत्तीसगढ़ के महामहिम राज्यपाल एवं माननीय मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर निवेदन किया की जल्द से जल्द इन परिवारों को आर्थिक मदद देने की बात कही जिससे इन पीड़ित परिवारों को राहत मिल सके यह जानकारी राजनांदगाँव के सक्रिय जिला अध्यक्ष मनोज सिंह चन्देल ने दी ।

About newscg9

newscg9

Check Also

कलेक्टर ने विशेष पिछड़ी जनजाति बैगा छात्रावास के बच्चों से चर्चा कर पढ़ाई और भोजन व्यवस्था की ली जानकारी एवं स्वामी आत्मानंद स्कूल का किया निरीक्षण

कलेक्टर जनमेजय महोबे ने लैब, ऑडिटोरियम, आईटी रूम, लाइब्रेरी, क्लासरूम, खेल मैदान, शौचालय की गुणवत्ता …