Breaking News

मनरेगा कर्मचारी रोजगार सहायक 15 दिसम्बर को रायपुर में करेंगे धरना प्रदर्शन

छग ग्राम रोज़गार सहायक संघ के प्रांतीय आव्हान पर छग के ग्राम रोजगार सहायक 15 दिसम्बर को बूढ़ातालाब रायपुर में एक दिवसीय धरना प्रदर्शन करेंगे।

अपने लंबित मांग वेतनमान नियमितीकरण को लेकर रोजगार सहायक वर्षों से संघर्षरत है।छग में जब से मनरेगा अधिनियम लागू किया गया है तब से मनरेगा कर्मचारी ग्राम रोज़गार सहायक के पद पर प्रत्येक ग्राम पंचायत में मानदेय पर नियुक्त किये गए है।विगत 14 -15 वर्षों से ग्राम रोजगार सहायक मनरेगा सहित शासन की विभिन्न योजनाओं में अपनी सेवा निष्ठा पूर्वक निर्वहन कर रहे है।शासन की कोई भी महत्वपूर्ण योजना हो उसमे रोजगार सहायकों को जिम्मेदारी अवश्य मिलती है।फिर वह राशन कार्ड ,स्मार्ट कार्ड,मतदाता सूची निर्वाचन,गोधन न्याय,गौठान जो भी जिम्मेदारी दिया गया उसका निर्वाहन रोजगार सहायकों द्वारा कियॉ जाता है,परन्तु आज पर्यन्त ग्राम रोजगार सहायकों का वेतनमान निर्धारण नही होना समझ से परे है वही मनरेगा अधिनियम में सभी अधिकारी कर्मचारियों को वेतनमान दिया जाता है।

रोजगार सहायकों द्वारा कराए गए कार्यो के आधार पर सबको मिलता है वेतन

जबकि समस्त अधिकारी कर्मचारियों का वेतन रोजगार सहायकों द्वारा कराए गए कार्यो से सृजित मानव दिवस से किये गए खर्च से ही कियॉ जाता है।या ये कहे कि विडंबना है समस्त अधिकारी कर्मचारियो के वेतन के लिए निधि संयोजित करने वाले ग्राम रोज़गार सहायकों को ही वेतनमान नही दिया जा रहा है।जो सरासर अन्याय है।

रोजगार सहायक विगत कई वर्षों से अपनी मांग वेतनमान निर्धारण नियमितीकरण,ग्राम पंचायत सचिव पद पर सीधी भर्ती एवं सहायक सचिव घोषित करने एवं नगरीय निकाय में सम्मिलित होने वाले ग्राम पंचायतों के रोजगार सहायकों को उसी निकाय में समायोजित करने की मांग को लेकर संघर्षरत है।

मांगो का समर्थन कर चुके है माननीय मुख्यमंत्री व पंचायत मंत्री

रोजगार सहायकों के मांगो का समर्थन माननीय मुख्यमंत्री भूपेश बघेल एवं वर्तमान सरकार विपक्ष में रहते हुवे तत्कालीन नेता प्रतिपक्ष व वर्तमान पंचायत मंत्री टी एस सिंह देव जी स्वयं हड़ताली मंच पर रोजगार सहायकों को समर्थन किये।साथ ही घोषणा पत्र में भी सम्मिलित किये है।जिससे रोजगार सहायकों की उम्मीद नया सरकार बनते ही बढ़ गयी लेकिन 2 वर्ष हो चुके नया सरकार को गठन हुवे रोजगार सहायकों की मांग व समस्या पर किसी प्रकार की पहल नही हो पाया।

जबकि छग ग्राम रोजगार सहायकों ने लगातार विभिन्न माध्यमो से माननीय मुख्यमंत्री व पंचायत मंत्री जी समक्ष ज्ञापन व बातचीत से अपनी मांग रखने का प्रयास निरंतर जारी है।

संघ ने चलाया संवाद पत्राचार कार्य्रकम

संघ द्वारा एक माह पूर्व ही संवाद पत्राचार कार्यक्रम चलाकर छग के समस्त विधायको,मंत्रीगणों,सांसद सदस्यों व स्थानीय जनप्रतिनिधियों से भी ज्ञापन देकर समर्थन की अपील की गई।लेकिन नतीजा शून्य ही रहा।

हताश रोजगार सहायको ने अभियान चलाकर ब्लॉक स्तरीय रैली ज्ञापन 1 दिसम्बर,7 दिसम्बर को जिला स्तरीय धरना रैली कर अपनी मांग पूरी करने हेतु ग्राम रोजगार सहायक अपनी मांग से सम्बंधित ज्ञापन माननीय मुख्यमंत्री भुपेश बघेल जी,माननीय टी एस सिहदेब पंचायत मंत्री जी,माननीय डॉ चरणदास महंत विधानसभा अध्यक्ष जी के नाम देकर पुनः आवाज बुलंद किये।
आगामी 15 दिसम्बर को छग के राजधानी रायपुर में बूढ़ातालाब के पास धरना प्रदर्शन रैली कर मांग पूरी करने हेतु ज्ञापन सौपा जाएगा।जिसके लिए प्रान्त व जिला स्तर पर उच्च कार्यालयों में सूचना दी जा चुकी है।सभी जिला ब्लॉक से रोजगार सहायक रायपुर कुच करने की पूरी तैयारी कर ली है।जिला स्तर पर जिलाध्यक्ष को जवाबदारी दी गयी है।प्रान्त अध्यक्ष संतोष सोनवानी एवं छग प्रान्त कार्यकारिणी ने छग के समस्त रोजगार सहायकों से धरना प्रदर्शन रैली में उपस्थित रहने की अपील की है।



About newscg9

newscg9

Check Also

कलेक्टर ने विशेष पिछड़ी जनजाति बैगा छात्रावास के बच्चों से चर्चा कर पढ़ाई और भोजन व्यवस्था की ली जानकारी एवं स्वामी आत्मानंद स्कूल का किया निरीक्षण

कलेक्टर जनमेजय महोबे ने लैब, ऑडिटोरियम, आईटी रूम, लाइब्रेरी, क्लासरूम, खेल मैदान, शौचालय की गुणवत्ता …