Breaking News

वन अधिकार पत्र से होगी वनों की रक्षा और वनवासियों को मिलेंगे आय के साधन-मुख्यमंत्री बघेल

कबीरधाम जिले के 15 सामुदायिक वन अधिकार पट्टा, समुदायिक वन संसाधन के पट्टा वितरण किया गया

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से वन अधिकार पत्र वितरण कार्यक्रम सम्पन्न

कवर्धा | 03 अक्टूबर 2020। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के जयंती के अवसर पर  प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के अध्यक्षता में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आयोजित वनाधिकार पत्र वितरण समारोह में कबीरधाम जिले में आदिवासी समूहों को वन अधिकार अधिनियम के तहत सामुदायिक वन अधिकार पत्र एवं सामुदायिक वन संसाधन अधिकार पत्र प्रदान किया गया। इसमे सामुदायिक वन अधिकार 15 तथा सामुदायिक वन संसाधन अधिकार पत्र 3 शामिल है। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू, कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे, वन मंत्री मोहम्मद अकबर, आदिम जाति विकास मंत्री डॉ प्रेम साय सिंह टेकाम, खाद्य मंत्री अमरजीत भगत, नगरीय प्रशासन एवं विकास मंत्री डॉ. शिव कुमार डहरिया, विधायक मोहन मरकाम, मुख्य मंत्री के सलाहकर राजेश तिवारी, अपर मुख्य सचिव सुब्रत साहू, प्रधान वन संरक्षक  राकेश चतुर्वेदी सहित अन्य अधिकारी रायपुर से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से जुड़े थे।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने वीडियां कांफ्रेसिंग के माध्यम से संबांधित करते हुए कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने सम्पूर्ण मानवता का जो संदेश दिया है वह पूरे विश्व के लिए अनुकरणीय है। महात्मा गांधी के सपनो को साकार करने के लिए हमने ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाने के लिए नरवा गरवा घुरवा और बाड़ी योजना लागू की है। इसी प्रकार वन क्षेत्रों के निवासियों के आजीविका कर साधन के लिए अब सामुदायिक के साथ ही वन प्रबंधन के भी अधिकार दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सामुदायिक वन अधिकार पत्र के बारे में वनवासियों को बताएं कि इससे वनों की रक्षा तो होगी ही इससे आय के साधन भी उपलब्ध होंगे। कुपोषण एवं एनीमिया को भी दूर कर पाएंगे। उन्होंने कहा कि वनाधिकार देना ही काफी नही है इसे लोगो के जीवन मे परिवर्तन लाना महत्वपूर्ण है। वन विभाग एवं अन्य संबंधित विभाग के अधिकारी ग्रामीणों के साथ बैठक कर कौन से कार्य स्वीकृत कराना है और क्या फसल लगाना है इसकी योजना बनाएं। मुख्यमंत्री ने कहा कि वन क्षेत्रों में लोगो को आजीविका मिलेगी तो रोजगार के लिए पलायन भी रुकेगी। उन्होंने कहा कि सामुदायिक वनाधिकार पत्र की जमीन में फलदार पौधे लगवाए तथा पौधों के बीच खाली जमीन में आयमूलक खेती जैसे अदरक, हल्दी, जिमी कंद एवं तीखुर की खेती के बारे में बताएं।  

कलेक्टर शर्मा ने बताया कि महात्मा गांधी जंयती के अवसर पर मुख्यमंत्री भूपेष बघेल के द्वारा विडियों कांफ्रेसिक के माध्यम से सामुदायिक वन अधिकार एवं सामुदायिक संसाधन अधिकार पत्र का वितरण किया गया। इस कार्यक्रम में जिले के 15 सामुदायिक वन अधिकार पत्र झोनझरी ग्राम पंचायत 11, पवनतरा ग्राम पंचायत-2, और मोतिमपुर ग्राम पंचायत-2 और सामुदयिक वन संसाधन अधिकार पत्र अंतर्गत तीन भेण्ड्रा नवागांव ग्राम पंचायत-1, सुरजपुरा ग्राम पंचायत-1, खोलवा ग्राम पंचायत-1 अधिकार पत्र का वितरण समिति के अध्यक्षों को किया गया। वीडियो कांफ्रेंसिंग कार्यक्रम में कलेक्ट्रोरेट परिसर स्थित स्वान कक्ष में वनमण्डाधिकारी  दिलराल प्रभाकर, सहायक आयुक्त आदिवासी विकास आरएस टंडन विशेष रूप से उपस्थित थे।



About newscg9

newscg9

Check Also

कलेक्टर ने विशेष पिछड़ी जनजाति बैगा छात्रावास के बच्चों से चर्चा कर पढ़ाई और भोजन व्यवस्था की ली जानकारी एवं स्वामी आत्मानंद स्कूल का किया निरीक्षण

कलेक्टर जनमेजय महोबे ने लैब, ऑडिटोरियम, आईटी रूम, लाइब्रेरी, क्लासरूम, खेल मैदान, शौचालय की गुणवत्ता …