Breaking News

ग्राम डंगनिया में पढ़ाई तुंहर पारा से बच्चों को मिल रही शिक्षा

कवर्धा | 01 सितंबर 2020। पूरे देश कोरोना महामारी के संकट से गुजर रहा है। इस विकराल महामारी ने किसे परेशान नही किया है। विगत मार्च माह से लाकडॉउन चल रहा है। गांव से लेकर बड़े महानगर बंद है। बच्चों का स्कूल भी मार्च से ही बंद है। माह मई में बच्चों की पढ़ाई को लेकर राज्य सरकार ने पढ़ई तुंहर दुआर के नाम से वर्चुअल कक्षा मोबाइल के माध्यम से ऑनलाइन कक्षा प्रारंभ हुआ। जून में आते-आते अधिकांश बच्चों और पालकों तक जुड़कर कार्य करने लगे। माह जुलाई  में पढ़ाई तुंहर पारा और लाऊड स्पीकर के माध्यम से पढ़ाई प्रारंभ हुआ। ग्राम डंगनिया में पढ़ाई तुंहर पारा की भी कक्षा प्रारंभ हुई। प्रतिदिन यहां कार्यरत प्रभारी प्रधान पाठक प्रशान्त विश्वकर्मा द्वारा गांव पहुंच कर ग्राम के पंचो, शालाप्रबंधन समिति एवं बुजुर्गों से सलाह कर गांव के सांस्कृतिक मंचों में शाला संचालन का कार्य प्रारंभ करने हेतु चिन्हांकित किया गया। पंचो के सहयोग से लाउडस्पीकर की व्यवस्था कर प्रतिदिन कक्षा का नियमित संचालन किया जाने लगा अब शाला में कार्यरत दोनों शिक्षक प्रशान्त विश्वकर्मा व सहायक शिक्षक भावेश गोटे स्वस्फूर्त कोविड-19 के सुरक्षा नियम का पालन करते हुए कक्षा का संचालन कर रहे है साथ ही वर्चुअल कक्षा का भी संचालन करा रहे है।

इसी तारतम्य में ग्राम के नवयुवकों ने अपने शिक्षकों से प्रेरित होकर गांव के बच्चों को पढ़ाने का बीड़ा उठाया और वे स्वयं प्रभारी प्रधानपाठक व अपने पूर्व शिक्षक  से मिलकर पढाने की इच्छा जाहिर की तथा शिक्षकों के मार्गदर्शन में अब वे वालेंटियर के रूप में कार्य कर रहे है। संध्या काल मे शाला में पढ़ने वाले बच्चों को घर घर सम्पर्क कर उनके पढ़ाई में आ रहे समस्या का समाधान कर रहे है। शिक्षक सारथी के रूप में मोहन साहू, परमेश्वर साहू अपना भरपूर सहयोग दे रहे है। गाव के सभी वर्ग के व्यक्ति सभी के निस्वार्थ कार्य की प्रशंसा कर रहे है।



 

About newscg9

newscg9

Check Also

कलेक्टर ने विशेष पिछड़ी जनजाति बैगा छात्रावास के बच्चों से चर्चा कर पढ़ाई और भोजन व्यवस्था की ली जानकारी एवं स्वामी आत्मानंद स्कूल का किया निरीक्षण

कलेक्टर जनमेजय महोबे ने लैब, ऑडिटोरियम, आईटी रूम, लाइब्रेरी, क्लासरूम, खेल मैदान, शौचालय की गुणवत्ता …